क्योंजी बेटा रामसहाय

क्योंजी बेटा रामसहाय 
इतनी जल्दी कैसे आए
अभी तो दिन के दो ही बजे हैं
कहो आजकल बड़े मज़े हैं


Comments

Popular posts from this blog

गदर में ग़ालिब - डॉ. कैलाश नारद

ज़मीं को जादू आता है - गुलज़ार

They Called Her ‘Fats’- Paro Anand (Part 1)