Sunday, July 15, 2012

ओ नन्हे बीज

ओ नन्हे बीज
तुझमें छिपा है 
एक बड़ा पेड़ 
खूब सुंदर फुल
मीठे मीठे फल 
हरी हरी पत्तियां 
चिड़िया के लिए घर
मजबूत मजबूत लकड़ियाँ 
आ में तुझे बू दूँ 

अक्षत चमोली उतरकाशी 

No comments:

Post a Comment