Tuesday, June 26, 2012

धरती

धरती मुझे गोद में लेकर 
गुलाबी ठण्ड से नहलाती है 
फुहारों से भीगती है
मौसम मौसम घुमती है 

धरती मुझे गो दमें लेकर
सूरज के चक्कर लगाती है

चन्दन यादव 

No comments:

Post a Comment