Monday, April 23, 2012

रिमझिम रिमझिम बारिश आई

रिमझिम रिमझिम बारिश आई
हवा पकड़कर सरसर लाई
छाता ले निकले सब बच्चे
एक बच्चे ने छाता छोड़ा
तो सबने छाता छोड़ दिया
भीगने लगे सब बच्चे,
और मौज बनाने लगे सब बच्चे इस
अवनींद्र कुमार राय

No comments:

Post a Comment